logo

सेजियन की कलम से

सेज इंटरनेशनल स्कूल अयोध्या बायपास भोपाल में कार्यरत मैं चंद्रकिरण रघुवंशी सभी को हृदय से प्रणाम करती हूँ। सेज समूह का सदस्य होना मेरे लिए अत्यंत गौरव की अनुभूति है, यह सिर्फ इसलिए नहीं की यह अपने आप में एक बहुत बड़ा प्लेटफार्म है वरन् इसलिए की यहाँ का कोना – कोना आध्यात्म एवं पारिवारिक – प्रेम की परिपाटी को स्वयं में समेटे नित नई ऊँचाइयों की ओर अग्रसर है । देश और दुनिया में संस्थाएं एवं उनके संस्थापक तो एक से बढ़कर एक होते हैं परंतु हमारी संस्था” द सेज” यथा नाम तथा गुण की वृत्ति को स्वयं में समेटे अपने विभिन्न कार्य क्षेत्रों के माध्यम से समाज को अपनी वृहद सेवाएं प्रदान कर रही है । हमारी संस्था द सेज के संस्थापक हमारे सी.एम.डी. सर इंजीनियर संजीव अग्रवाल जी अपनी अनूठी पूर्व – योजनाओं के गठन तथा आध्यात्मिक प्रवृति के सामंजस्य से यहाँ कार्यरत् प्रत्येक  सेजियन को न सिर्फ प्रेम एवं अपनत्व के साथ कार्य करने का अवसर प्रदान करते हैं वरन् हर वर्ग के कर्मचारियों के लिए समय-समय पर संस्था में ही  कई तरह की ट्रेनिंग एवं

मोटीवेशनल गतिविधियों का आयोजन भी करवाते हैं। जिसके कारण हम सेजियन्स सत् – चित् – आनंद के साथ  सकारात्मक उर्जा से परिपूर्ण रह पाते हैं।मैंने अपनी पूर्व शिक्षण संस्था में बहुत छोटे स्तर पर कार्य किया परंतु यहाँ एक बात अवश्य बताना चाहूंगी कि अपने उस कार्यकाल में ग्रहण की गई कर्तव्य निष्ठा ,समर्पण एवं बच्चों के साथ बेशर्त प्रेम – पूर्ण शिक्षण का जो अनुभव रहा उसी के सत् को लेकर ही ,मैं यहां आई और छोटी ही सही पर अपनी एक जगह बनाई जो मेरे लिए किसी मील के पत्थर से कम नहीं है । मैं खुश हूँ,कि मुझे यहां अपनी क्षमताओं को जानने समझने एवं उन्हें नए आयाम तक ले जाने का मौका मिला । अपनी संस्था के वरिष्ठ जनों की दूरदर्शिता एवं मार्गदर्शन के साथ हम सभी आज की मौजूदा परिस्थितियों के साथ तालमेल स्थापित कर कोरोना काल जैसी विषम परिस्थिती में भी अपने कार्यों को बखूबी अंजाम दे रहे हैं जिसके लिए तमाम वरिष्ठ जनों का हृदय से आभार ।

Summary
Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DB Genius Hunt
Affiliation with Aryabhat